ताजा खबरे

मिल रहे है 15-15 हज़ार

UP Kanya Sumangala Yojana October Update : कन्या भ्रूण हत्या और बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर नकेल कसने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार द्वारा चलाई जा रही यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) जिले के गौतमबुद्धनगर में परवान चढ़ती नजर आ रही है. जिले में योजना का लाभ 5680 हितग्राहियों को मिल रहा है ।

UP Kanya Sumangala Yojana October Update

उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) जिला परिवीक्षा अधिकारी अतुल सोनी ने बताया कि योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि योजना के तहत 64 सौ आवेदन प्राप्त हुए हैं. शेष आवेदन सत्यापन नहीं होने के कारण अटके पड़े हैं। कुछ आवेदक यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) की शर्तों को पूरा नहीं करते हैं। दरअसल, अब केवल दो बच्चों वाले माता-पिता को ही योजना का लाभ दिया जा सकता है।

उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) जिला परिवीक्षा अधिकारी ने बताया कि 5 जुलाई को जिलाधिकारी सुहास एलवाई यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana )के संचालन के लिए गठित जिला स्तरीय निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक भी करेंगे. शहरी क्षेत्र में एसडीएम आवेदन पत्रों की जांच करते हैं और ग्रामीण क्षेत्र में बीडीओ द्वारा सत्यापन किया जाता है। योजना के तहत 6 समान किश्तों में 15 हजार रुपये दिए जाते हैं।

UP Kanya Sumangala Yojana

बालिका के जन्म पर दो हजार, टीकाकरण के लिए एक हजार, पांचवीं कक्षा में प्रवेश के लिए दो हजार, छह में प्रवेश के लिए दो हजार, कक्षा नौ में प्रवेश के लिए तीन हजार रुपये। उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) द्वारा दसवीं पास करने के बाद पांच हजार रुपये और बारहवीं पास करने के बाद ग्रेजुएशन में प्रवेश के लिए पांच हजार रुपये दिए जाते हैं।

योजना के तहत बालिकाओं के जन्म से लेकर स्नातक स्तर तक विभिन्न चरणों में शिक्षा के लिए छह किस्तों में कुल 15 हजार रुपये की राशि दी जाती है। ऑनलाइन आवेदन के लिए बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तीन लाख रुपए सालाना से कम होना चाहिए।

Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana का लाभ उठाने की पात्रता

  • यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) का लाभ पाने के लिए पहली पात्रता यह है कि आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक की वार्षिक पारिवारिक आय 3 लाख रुपये या उससे कम होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ एक परिवार की अधिकतम दो लड़कियों को मिलता है।
  • अगर किसी परिवार ने अनाथ लड़कियों को गोद लिया है तो गोद ली गई दो लड़कियां इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। वहीं, परिवार की दो अन्य लड़कियां भी इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • अगर किसी व्यक्ति की जुड़वां बेटियां हैं, तो उन जुड़वां बेटियों को भी इस उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) योजना का अलग-अलग लाभ मिलता है। ऐसे में एक परिवार की 3 बेटियां इसका फायदा उठा सकती हैं।

ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

  • आवेदक को सबसे पहले यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) की आधिकारिक वेबसाइट mksy.up.gov.in पर जाना होगा।
  • इसके बाद होम पेज पर सिटीजन सर्विस पोर्टल के विकल्प पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद एक पेज खुलेगा जिस पर रजिस्ट्रेशन करना है।
  • रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियां भरने के बाद आपको ओटीपी डालकर वेरिफाई करनी होगी।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद आपको आईडी मिल जाएगी, फिर आपको एमकेएसवाई पोर्टल पर लॉगइन करना होगा।
  • लॉग इन करने के बाद उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) बेटी से जुड़े सभी दस्तावेज अपलोड करने होंगे।

Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana क्या है

इस यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) के तहत बेटियों को जन्म के समय से लेकर चरणबद्ध तरीके से 15,000 रुपये की राशि का लाभ दिया जाता है। उदाहरण के लिए, जन्म के समय और पहले टीकाकरण पर 2,000 रुपये और 1,000 रुपये की राशि दी जाती है । इसके बाद बेटी के स्कूल में कक्षा 1 से 6 तक में दाखिले के समय 2,000 रुपये मिलते हैं। इसके बाद बेटी को नौवीं कक्षा में प्रवेश के समय 3,000 रुपये दिए जाते हैं। इसके बाद कक्षा 12, स्नातक या डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाली बेटी पर 5,000 रुपये की अंतिम किस्त दी जाती है । योजना का लाभ उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है !

Good News for Ration Card Holders : राशन कार्ड धारकों के लिए गुड न्यूज़ , देखें अपडेट

Back to top button
%d bloggers like this: