Marketing
Trending

Share Market: शेयर मार्केट में आई बहुत ही ज्यादा तेजी,Nifty-Sensex बनाएंगे नया रिकॉर्ड?

Share Market : अमेरिका में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स डेटा अनुमान से कम आना बेहद हैरान करने वाला रहा है.अमेरिकी मार्केट एक्सपर्ट एडवर्ड मोया ने कहा कि मुद्रास्फीति में कमी बहुत धीमी रही है, लेकिन इस रिपोर्ट से हमें उम्मीद है कि कीमतों कमी आने से ब्याज दरें नहीं बढ़ेंगी. क्योंकि बढ़ती महंगाई को नियंत्रण में रखने के लिए फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में लगातार वृद्धि की थी.

अमेरिका में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स डेटा अनुमान से कम आना बेहद हैरान करने वाला रहा है.अमेरिकी मार्केट एक्सपर्ट एडवर्ड मोया ने कहा कि मुद्रास्फीति में कमी बहुत धीमी रही है, लेकिन इस रिपोर्ट से हमें उम्मीद है कि कीमतों कमी आने से ब्याज दरें नहीं बढ़ेंगी. क्योंकि बढ़ती महंगाई को नियंत्रण में रखने के लिए फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में लगातार वृद्धि की थी.

यूएस में सीपीआई डेटा आने के बाद अमेरिकी शेयरों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली जबकि डॉलर में गिरावट आई. अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड भी रातों-रात कम हो गई. डाउ जोंस 1,201.43 अंक या 3.7 फीसदी की बढ़त के साथ 33,715.37 पर पहुंच गया. S&P500 207.8 अंक या 5.54 प्रतिशत बढ़कर 3,956.37 पर पहुंच गया और नैस्डैक कंपोजिट 7.35 प्रतिशत तक चढ़ गया.

rupees vs dollar

यूएस में सीपीआई डेटा आने के बाद अमेरिकी शेयरों में जबरदस्त तेजी देखने को मिली जबकि डॉलर में गिरावट आई. अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड भी रातों-रात कम हो गई. डाउ जोंस 1,201.43 अंक या 3.7 फीसदी की बढ़त के साथ 33,715.37 पर पहुंच गया. S&P500 207.8 अंक या 5.54 प्रतिशत बढ़कर 3,956.37 पर पहुंच गया और नैस्डैक कंपोजिट 7.35 प्रतिशत तक चढ़ गया.

अमेरिकी बाजारों से मिले शानदार संकेतों के बाद आज सुबह से एशियाई बाजारों में तेजी रही. हांगकांग, ताइवान, कोरिया, जापान और चीन में मार्केट में तेजी देखने को मिली. वहीं, भारतीय बाजार भी डेढ़ फीसदी से ज्यादा चढ़ गए.3/ 5

अमेरिकी बाजारों से मिले शानदार संकेतों के बाद आज सुबह से एशियाई बाजारों में तेजी रही. हांगकांग, ताइवान, कोरिया, जापान और चीन में मार्केट में तेजी देखने को मिली. वहीं, भारतीय बाजार भी डेढ़ फीसदी से ज्यादा चढ़ गए.

डॉलर इंडेक्स 0.3 प्रतिशत गिरकर 107.90 के स्तर पर आ गया. डॉलर में कमजोरी से रुपया मजबूत रहा. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा डॉलर कमजोर हो रहा है इसलिए विदेशी संस्थागत निवेशकों की खरीदी में वृद्धि की संभावना है. वहीं, मासिक एसआईपी आंकड़ा 13000 करोड़ रुपये को पार जा सकता है.4/ 5

डॉलर इंडेक्स 0.3 प्रतिशत गिरकर 107.90 के स्तर पर आ गया. डॉलर में कमजोरी से रुपया मजबूत रहा. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा डॉलर कमजोर हो रहा है इसलिए विदेशी संस्थागत निवेशकों की खरीदी में वृद्धि की संभावना है. वहीं, मासिक एसआईपी आंकड़ा 13000 करोड़ रुपये को पार जा सकता है.

मार्केट एक्सपर्ट्स को भारतीय बाजारों में तेजी जारी रहने की उम्मीद है. अगर निफ्टी 18,350 के स्तर से ऊपर रहने में कामयाब रहता है, तो 18,500-18600 के स्तर की ओर जा सकता है और इसके नये रिकॉर्ड हाई बनाने की उम्मीद है. वहीं, निचले स्तर पर 18200 और 18150 सपोर्ट लेवल होगा. बाजार विश्लेषकों का मानना है कि निकट भविष्य में निफ्टी 19 हजार के स्तर तक भी जा सकता है.5/ 5

मार्केट एक्सपर्ट्स को भारतीय बाजारों में तेजी जारी रहने की उम्मीद है. अगर निफ्टी 18,350 के स्तर से ऊपर रहने में कामयाब रहता है, तो 18,500-18600 के स्तर की ओर जा सकता है और इसके नये रिकॉर्ड हाई बनाने की उम्मीद है. वहीं, निचले स्तर पर 18200 और 18150 सपोर्ट लेवल होगा. बाजार विश्लेषकों का मानना है कि निकट भविष्य में निफ्टी 19 हजार के स्तर तक भी जा सकता है.

Back to top button
%d bloggers like this: