देश

Post Office Scheme: पोस्ट ऑफिस की धमाकेदार स्कीम, 1000 रुपये में खाता खुलवाकर पाएं 14 लाख का लाभ

नई दिल्ली: Post Office Scheme: मौजूदा समय में हर व्यक्ति को अपने भविष्य की चिंता करनी चाहिए और इसके लिए जो सबसे सटीक तरीका है, वह है बचत। वैसे बचत करने के लिए कई तरीके होते हैं। लेकिन जो सबसे लोकप्रिय तरीका है, वह है निवेश। वैसे निवेश करने के कई विकल्प मौजूद हैं। लेकिन पोस्ट ऑफिस में निवेश करना सबसे अच्छा शाबित हो सकता है, क्योंकि इसमें निवेश किया गया पैसा सुरक्षित रहता है और रिटर्न भी अच्छा मिलता है। ऐसे ही पोस्ट ऑफिस एक स्कीम लाया है, जिसमें बाजार के उतार-चढ़ाव का कोई असर नहीं होता है।

यह डाकघर वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (scss) है। इसमें लोगों को 7.4 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है। इसमें जमा पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहता है और गारंटीड रिटर्न (guaranteed return) मिलता है।

बता दें कि सीनियर सिटीज़न्स सेविंग्स स्कीम (Senior Citizens Savings Scheme ) में खाता खुलवाने के लिए आपकी ऐज कम से कम 60 साल होनी चाहिए। मतलब 60 साल या उससे ज्यादा ऐज वाले ही लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। अगर आपकी आयु 58 भी है तो आप इस योजना के पात्र नहीं हैं। यदि आपने VRS, यानी Voluntary Retirement Scheme ले रखी है, तो ही आप इस योजना के तहत अपना खाता ओपन करा सकते हैं। लेकिन इसके लिए जरूरी शर्त यह है कि वह इन्सान रिटायरमेंट लेने के केवल 30दिनो के अंदर में इस अकाउंट को खुलवा लेना होगा।

इस स्कीम में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम राशि 1000 रुपये है। जबकि अधिकतम 15 लाख रुपये तक ही इसमें रख सकते है। यदि आप एक लाख रुपये से ज्यादा पर खाता खुलवाते हैं तो आपको चेक देना होगा।

SCSS के तहत डिपॉजिटर इंडीविजुअली या अपनी पत्नी/पति के साथ ज्वॉइंट में एक से ज्यादा अकाउंट भी रखा जा सकता है। लेकिन सभी को मिलाने के बाद मैक्सिमम इन्वेस्टमेंट लिमिट 15 लाख से ज्यादा नहीं किया जा सकता है। खाता खोलने और बंद करवाने के समय नॉमिनेशन फैसिलिटी उपलब्ध करवाया गया है।

10 लाख जमा करने पर मिलेंगे 14 लाख:

अगर आप डाकघर वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (scss) में एक साथ 10 लाख रुपये का निवेश करते हैं तो 7.4 फीसदी सालाना ब्याज दर के हिसाब 5 साल बाद यानी मैच्योरिटी पर आपको 4,28,964 रुपये मिलेंगे। यानी इसमें ब्याज के तौर पर 4,28,964 रुपये  मिलेंगे। ख़ास बात यह है कि आप स्कीम में मात्र 1 हजार रुपये देकर खाता खुलवा सकते हैं।

3 साल बढ़ा सकते हैं योजना का समय:

SCSS का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल तक के लिए है, लेकिन अगर आप चाहे तो इसे आगे बढ़ा सकते हैं। SCSS की अवधि को मैच्योरिटी के बाद 3 साल के लिए और बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए मैच्योरिटी की तारीख से एक साल के भीतर आवेदन जमा करना होगा।

SCSS में मिलने वाले ब्याज से होने आय पर टैक्स लगता है। अगर आपके सारे SCSS की ब्याज आय 50 हजार रुपये से अधिक है तो आपका TDS कटना शुरू हो जाएगा। टैक्स की रकम को आपके ब्याज से काट लिया जाता है। अगर  ब्याज आय निर्धारित सीमा से अधिक नहीं है, तो आप फॉर्म 15जी/15एच जमा करके टीडीएस से राहत पा सकते हैं। इसके अलावा इस स्कीम में निवेश करने पर आपको सेक्शन 80C के तहत टैक्स में छूट भी मिलती है।

महत्वपूर्ण खबरे

IPL 2022 points table KKR slip to 8th place in the IPL 15 points table gujarat remains on top

Punjab Kings and Gujarat titans changed their captain same day due to injury Shikhar Dhawan Captained PBKS and Rashid Khan captained GT in IPL 2022

Maharashtra Crisis: ‘जाहिल लोग चलती-फिरती लाशें हैं…’, ईडी की पूछताछ से पहले संजय राउत का वार

गेहूं निर्यात पर रोक लगाने से किसका फायदा – नुकसान होगा जानिए

 

akshay kumar sets brother goals feeds golgappas to his on screen sisters

 

Back to top button
%d bloggers like this: