ताजा खबरे

खो जाने पर डुप्लीकेट कैसे

Post Office National Savings Certificate :आवश्यक केवाईसी ( KYC ) दस्तावेज जमा करने पर राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र ( National Savings Certificate ) को किसी भी भारतीय डाकघर ( Post Office ) से खरीदा जा सकता है ! राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र ( Post Office National Savings Certificate ) निवेश करने के लिए महत्वपूर्ण कदम निम्नलिखित हैं ! ऑनलाइन और साथ ही सभी भारतीय डाकघरों में उपलब्ध एनएससी आवेदन पत्र भरें !

Post Office National Savings Certificate

आवश्यक केवाईसी दस्तावेजों की स्व-सत्यापित प्रतियां जमा करें ! आगे के सत्यापन के लिए आपको मूल दस्तावेज भी साथ लाने होंगे ! निवेश की जाने वाली राशि का भुगतान नकद या चेक के माध्यम से करें ! एक बार प्रमाणपत्रों की खरीद की प्रक्रिया हो जाने के बाद, लागू राशि के एनएससी ( NSC ) मुद्रित किए जाएंगे और डाकघर से एकत्र किए जा सकते हैं !

मुख्य रूप से, राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र ( Post Office National Savings Certificate ) कर बचत निवेश हैं ! क्योंकि निवेश की गई मूल राशि धारा 80 सी के तहत कर कटौती की अनुमति देती है ! 1.5 लाख की सीमा ! हालांकि, एनएससी पर अर्जित ब्याज एक अलग कर उपचार की सुविधा देता है !

एनएससी ( PONSC ) से सालाना अर्जित ब्याज को पुनर्निवेश माना जाता है ! इसलिए कर से छूट मिलती है ! और धारा 80 सी के तहत एक और कटौती के रूप में भी योग्य है ! हालांकि, 5वें वर्ष में अर्जित ब्याज को फिर से निवेश नहीं किया जाता है! इसलिए निवेशक की लागू स्लैब दर के अनुसार कर योग्य है !

राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र निवेश करने के लिए प्रमुख पात्रता

  • सभी निवासी भारतीय राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र ( National Savings Certificate ) में निवेश करने के पात्र हैं !
  • व्यस्क व्यक्तिगत रूप से या संयुक्त रूप से, नाबालिग की ओर से अभिभावक / विकृत दिमाग वाले व्यक्ति या 10 वर्ष से ऊपर के नाबालिग एनएससी में निवेश कर सकते हैं !
  • एचयूएफ के कार्य कर्ता केवल अपने नाम से ही एनएससी ( NSC ) में निवेश कर सकते हैं !

Post Office National Savings Certificate का स्थानांतरण

राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र ( Dak Ghar National Savings Certificate ) को मूल प्रमाण पत्र की ब्याज प्रोद्भवन/परिपक्वता को प्रभावित किए बिना एक डाकघर से दूसरे के साथ-साथ एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित किया जा सकता है !

राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र एक निवेशक को निम्नलिखित हस्तांतरण विकल्पों की अनुमति देता है !एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरण बचत प्रमाणपत्रों ( National Savings Certificate Transfer ) के हस्तांतरण के लिए आवेदन पत्र भरकर और डाकघर में जमा करके किया जा सकता है !

जिसने पहले मूल प्रमाण पत्र जारी किया था ! एनएससी ( NSC ) जारी करने वाले डाकघर में निर्दिष्ट शर्तों के तहत ! एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को बचत प्रमाण पत्र ( Savings Certificate ) के हस्तांतरण के लिए आवेदन भरकर राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र का स्थानांतरण ( Post Office National Savings Certificate Transfer ) भी एक धारक से दूसरे में किया जा सकता है ! यह स्कीम मैच्योरिटी के समय तक केवल एक बार ही किया जा सकता है !

राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्रों पर ऋण

आप कुछ प्रमुख नियमों और शर्तों के अधीन अपने Dak Ghar National Savings Certificate निवेशों पर ऋण प्राप्त करने के पात्र हो सकते हैं:

  • केवल निवासी भारतीय ही NSC ( राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र ) पर ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं!
  • कुछ प्रमुख निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक वर्तमान में यह सुविधा प्रदान करते हैं !
  • एनएससी ( NSC ) पर ऋण पर लागू मार्जिन परिपक्वता तक शेष समय पर निर्भर करता है !
  • एनएससी निवेश पर दी जाने वाली ब्याज दर व्यक्तिगत ऋण आवेदक के साथ-साथ ऋण की पेशकश करने वाले बैंक के आधार पर भिन्न होती है !
  • ऋण अवधि एनएससी ( National Savings Certificate ) की अवशिष्ट परिपक्वता के बराबर होती है! जिसका उपयोग संपार्श्विक के रूप में किया जाता है !
  • एनएससी पर ऋण की कुछ सामान्य विशेषताएं ऊपर दी गई हैं ! विशिष्ट विशेषताएं जैसे कि मार्जिन, ब्याज दर, कार्यकाल आदि एक ऋणदाता से दूसरे ऋणदाता में भिन्न होते हैं !

डुप्लीकेट राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र कैसे बनवाये

यदि मूल ( National Savings Certificate )  प्रमाणपत्र खो जाता है ! चोरी हो जाता है, नष्ट हो जाता है! विरूपित हो जाता है या विकृत हो जाता है ! तो आप डुप्लीकेट प्रमाणपत्र ( Duplicate  National Savings Certificate ) जारी करवा सकते हैं ! आपको केवल डुप्लीकेट बचत प्रमाणपत्र फॉर्म ( Duplicate National Savings Certificate Form ) भरना है ! और इसे उस डाकघर में जमा करना है!

जिसने एनएससी जारी किया है जिसे बदलने की जरूरत है ! प्रमाण पत्र का विवरण जैसे- सीरियल नंबर, मूल्यवर्ग, एनएससी जारी करना, आदि ! जिस तारीख को प्रमाण पत्र खरीदे गए थे ! अन्य विवरणों के साथ डुप्लीकेट प्रमाण पत्र ( Duplicate Certificate ) के आवेदन के कारण का भी उल्लेख किया जाना चाहिए ! प्रपत्र में प्रमुख क्षेत्रों में शामिल हैं !

यह भी जानें :- 

EPS Pension Scheme : लाखों पेंशनर्स के लिए बड़ी खुशखबरी, पेंशन को लेकर लिया गया ये फैसला

Small Business Ideas : खाली बैठे हो गए हैं परेशान तो इन बिजनेस से कर सकते हैं अच्छी कमाई

Post Office Monthly Income Yojana Features : पोस्ट ऑफिस मासिक आय योजना से कमाए हर महीने

Back to top button
%d bloggers like this: