ताजा खबरे

IAS Officer : मैकेनिक की बेटी बनी IAS Officer,नौकरी के साथ ही की upsc exam की तैयारी

IAS:संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा (UPSC Civil Service Exam) को सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है और इसे पास करने के लिए स्टूडेंट्स को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. ज्यादातर छात्रों को यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) में सफलता हासिल करने के लिए कई सालों तक मेहनत करनी पड़ती है. ऐसी ही कुछ कहानी झारखंड की रहने वाली रेना जमील (Rena Jamil) की भी है, जिन्होंने कई तरह की कठियाइयों का सामना करते हुए सिविल सर्विस एग्जाम पास किया और आईएएस अफसर (IAS Officer) बनने का सपना पूरा किया.

मां 8वीं पास और पिता

रेना जमील (Rena Jamil) के लिए आईएएस बनने का सफर आसान नहीं था, क्योंकि उनके परिवार की आर्थिक स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं थी. उनकी मां नसीम आरा हाउस वाइफ हैं और आठवीं तक पढ़ी हैं, जबकि उनके पिता एक मैकेनिक का काम करते थे. रेना जमील चार भाई बहन हैं. परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के बावजूद रेना के पिता ने बच्चों को पढ़ाने में कोई कमी नहीं आने दी. रेना के बड़े भाई आईआरएस अध‍िकारी हैं और उनके छोटे भाई प्रसार भारती में इंजीनियर हैं, जबकि उनकी छोटी बहन भी बीएड कर रही हैं.

Rena Jamil ने सरकारी स्कूल से की पढ़ाई

झारखंड के धनबाद की रहने वाली रेना जमील (Rena Jamil) बताती हैं उन्होंने आठवीं तक की पढ़ाई उर्दू मीडियम स्कूल से की है. इसके बाद उनकी आगे की पढ़ाई सरकारी स्कूल हुई. ग्रेजुएशन तक वह एक एवरेज स्टूडेंट थी, लेकिन पोस्ट ग्रेजुएशन में उन्होंने कड़ी मेहनत की और कॉलेज टॉप किया. मास्टर्स के दौरान वह अपना करियर फॉरेस्ट सर्विस में बनाना चाहती थीं, लेकिन उनके बड़े भाई ने कहा कि यूपीएससी एग्जाम के जरिए भी वह इस फील्ड में अपना करियर बना सकती हैं. इसके बाद उन्होंने यूपीएससी एग्जाम की तैयारी शुरू की और आईएएस बनने का सपना देखा.
जानिए कब की थी तैयारी शुरू

रेना जमील (Rena Jamil) ने साल 2014 में यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) की तैयारी शुरू कर दी और साल 2016 में पहली बार सिविल सेवा परीक्षा दी और 882वीं रैंक हासिल की. इसके बाद उनका चयन इंडियन इंफॉर्मेशन सर्विस में हो गया और उन्होंने आईआईएस सेवा को ज्वाइन कर ली.

नौकरी के साथ ही की upsc exam की तैयारी

पहले प्रयास में सफलता हासिल करने के बाद भी रेना जमील (Rena Jamil) ने यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) की तैयारी नहीं छोड़ी और साल 2017 में दूसरी बार परीक्षा दी, लेकिन प्रीलिम्स एग्जाम में ही फेल हो गईं.

नौकरी छोड़ी और हासिल की सफलता

प्रीलिम्स में फेल होने के बाद रेना जमील (Rena Jamil) ने नौकरी से ब्रेक लिया और पूरी मेहनत से यूपीएससी एग्जाम (UPSC Exam) की तैयारी फिर शुरू की. 2018 के एग्जाम में उन्होंने 380वीं रैंक हासिल की और आईएएस बनने का सपना पूरा किया. साल 2019 में रेना की पहली पोस्टिंग छत्तीसगढ़ के बस्तर जिले में ट्रेनी के तौर पर हुई. इसके बाद वो असिस्टेंट कलेक्टर बनीं और उन्हें अगली पोस्ट‍िंग सक्त‍ि में एसडीएम के तौर पर मिली.

One Comment

  1. Pingback: - Betul Crime News
Back to top button
%d bloggers like this: