देश

16 माह के निचले स्तर तक गई गोल्ड की कीमत, रिकवरी के माहौल में क्या करें निवेशक?

गोल्ड की कीमत 16 महीने के निचले स्तर से रिकवर हो रही है। जानकारों के मुताबिक मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर गोल्ड की कीमत 49,500 रुपये से 51,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के दायरे में कारोबार कर रही थी।

16 माह के निचले स्तर तक गई गोल्ड की कीमत, रिकवरी के माहौल में क्या करें निवेशक?
Deepak Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 23 Jul 2022 07:52 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
2:14

शादी हो या त्योहारी सीजन, हर वक्त गोल्ड की डिमांड बनी रहती है। कुछ लोग निवेश के लिहाज से भी गोल्ड की खरीदारी करते हैं। हालांकि, बढ़ती कीमतें देखकर लोग खरीदने से थोड़ा हिचकते हैं लेकिन बीते कुछ दिनों से पहले के मुकाबले यह सस्ता बिक रहा है।

16 माह का निचल स्तर: दरअसल, दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी के कारण, गोल्ड की कीमत 16 महीने के निचले स्तर पर आ गई थी। हालांकि, अब रिकवरी के ट्रैक पर लौटने की उम्मीद की जा रही है। कमोडिटी बाजार के जानकारों के मुताबिक मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर गोल्ड की कीमत 49,500 रुपये से 51,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के दायरे में कारोबार कर रही थी। लेकिन शुक्रवार को हाजिर गोल्ड की कीमत में 1680 डॉलर प्रति औंस से उछाल आया और 0.50 प्रतिशत इंट्राडे बढ़त के साथ 1726.40 डॉलर प्रति औंस के स्तर पर बंद हुआ।

जानकारों का कहना है कि जब तक पीली धातु की कीमत इन स्तरों से ऊपर बनी रहती है, तब तक ‘डिप्स पर खरीदारी’ की रणनीति बनाए रखनी चाहिए। मतलब ये कि गिरावट के माहौल में खरीदारी करनी चाहिए।

एक्सपर्ट क्या कहते हैं: रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के कमोडिटी एंड करेंसी रिसर्च सुगंधा सचदेवा के मुताबिक डॉलर इंडेक्स में नरमी ने गोल्ड में निचले स्तरों पर खरीदारी को आकर्षित किया। वहीं, आईआईएफएल सिक्योरिटीज के उपाध्यक्ष अनुज गुप्ता का भी कहना है कि इस वक्त गोल्ड की खरीदारी के अवसर के रूप में देखा जाता है।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज विशेषज्ञ ने कहा कि थोक खरीदारी से बचना चाहिए क्योंकि अगले सप्ताह यूएस फेड की बैठक से पहले सोने की कीमतों में उतार-चढ़ाव रहने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि बाजार इस बैठक में दरों में और बढ़ोतरी की घोषणा की उम्मीद कर रहा है।

रेलिगेयर ब्रोकिंग की सुगंधा सचदेवा ने कहा कि गोल्ड के लिए आगे का रास्ता थोड़ा कठिन है, लेकिन पिछले पांच हफ्तों से लगातार बिकवाली के बावजूद, सोने की कीमतों में अभी भी एक मजबूत रिकवरी है।

Back to top button
%d bloggers like this: