बैतूल हिंदी खबरे

अगर आप भी बनना चाहते हैं अंबानी के जैसा बिजनेसमैन,तो जल्दी करें यह काम

आचार्य चाणक्य की नीतियां आज भी प्रासांगिक हैं। आज भी इनकी नीतियों को अमल में लाया जाय तो अवश्य ही व्यक्ति आपना जीवन संवार सकता है। जीवन में अगर किसी को सफल इंसान बनना है तो वह चाणक्य की बताई बातों पर अमल करे। आचार्य चाणक्य ने अपने अर्थशास्त्र में वह सारी बाते लिख गये है अगर उन पर अमल किया जाय तो खूब पैसा कमाया जा सकता है। साथ ही लोग सफल बिजनेसमैन भी बनते हैं। आज हम आचार्य चाणक्य की उन्ही सब बातों को साझा करने जा हरे हैं। जिसे आप भी अपना कर सफलता हांसिल कर सकते हैं। आइये जाने क्या है वह 5 बातें।

अनुशासन का होना आवाश्यक

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर किसी को जीवन में सफल इंसान बनना है तो उसे अनुशासित होना पडे़गा। अनुशासन हीन व्यक्ति की निजी और कर्यक्षेत्र का जीवन दोनों ही बर्बाद हो जाता है। इसलिए पहले स्वयं को अनुशासन में रखे तभी दूसरे लोग भी अनुशासन का पालन करेंगे।

जोखिम उठाने में है तरक्की-

बिना जोखिम उठाये किसी भी कार्य में सफलता नहीं मिलती। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर कोई भी व्यक्ति नदी पार करने के लिए उसके घाट पर बैठा रहेगा ते वह कभी भी उस पार नहीं पहुंच सकता। लेकिन वह जैसे ही उस पार जाने के लिए नदी में उतरेगा, जोखिम उठाएगा वह अवश्य ही नदी के पार पहंच जायेगा। इसलिए जीवन में तरक्की पाने के लिए जोखिम उठाना चाहिए।

सही समय पर सही निर्णय-

जीवन में सफल होने के लिए सही समय पर सही निर्णय लेना आवश्यक होता है। सही समय पर लिया गया निर्णय हमें मंजिल तक अवश्य ही पहुंचाता है। सही समय पर निर्णय लेने वाला व्यक्ति हर क्षेत्र में सफल होता है।

टीमवर्क आवश्यक है-

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर किसी भी कार्य में सफलता हासिल करनीं है ते टीमवर्क या कहें मिल-जुलकर कार्य करना चाहिए। वैसे भी कहा गया है कि एक अकेला थक जायेगा मिलकर हांथ बढ़ाना रे। ईमानदारी के साथ करें कार्य आचार्य चाणक्य कहते हैं कि ईमानदार व्यक्ति जीवन में कभी भी असफल नही हे सकता। वह परिस्थिति के कारण परेशान तो हे सकता है। लेकिन उसे एक न एक दिन सफलता अवश्य मिलती है। वहीं कहा गया है कि बेइमान लोग कई बार शुरू में तरक्की करते दिखते हैं लेकिन वह कुछ दिनो बाद पूरी तरह विफल हो जाते हैं। इसलिए इमानदारी नहीं छोड़नी चाहिए।

Back to top button
%d bloggers like this: